तरबूज खाने के बाद तुरन्त ना पीये पानी वरना हो सकती है यह गंभीर परेशानी जो आप नही जानते

तरबूज खाने के बाद अक्सर बहुत से लोग तुरन्त पानी या कुछ खाना खा लेते है जिससे उनके पेट मे केई परेशानी हो जाती है -

गर्मी का मौसम चल रहा है इस मौसम मे हर किसी का मन करता है कि वह कुछ ठन्डा खाये जिस के बाद आपकी नजर बाजार मे अधिकतर दुकानो पर बिक रहे तरबूज पर पड़ती है जो इस गर्मी के मौसम मे सबसे अच्छा फल है |
These losses are caused by consuming watermelon and water
These losses are caused by consuming watermelon and water

तरबूज मे 96 % पानी होता है जो हमारे शरीर मे पानी की कमी को पूरा करने मे सहायक है इसमे  6% शुगर भी होती है अब बात ये आती है तरबूज को हम अलग अलग तरिको से खा सकते है उसे आप सलाद व जूस के रूप मे इस्तेमाल कर सकते हो या कच्चा भी खा सकते है अब बात ये है क्या तरबूज के खाने के बाद तुरन्त पानी या खाना खा सकते है ? 
दोस्तों अक्सर आपके बड़े-बुजुर्ग तरबूज खाने के बाद पानी पीने को मना करते होगे वह ऐसा क्यों कहते है आज हम आपको ये बताते है वैसे तरबूज के बारे मे सभी की अलग अलग राय है |

जब आप गर्मी से परेशान होकर तरबूज खाते हो क्योकि आपके शरीर को कुछ ठण्डक मिल सके तरबूज के खाने के बाद फौरन आपको प्यास लगने लगती है और आप पानी पी लेते है जिसके कुछ समय बाद आपको पेट मे दर्द, टॉयलेट ज्यादा आना, शरीर मे कमजोरी व उलटी और दस्त आदि परेशानी हो सकती है |
  • अगर आप तरबूज को किसी और चीज के साथ खाते हो तो ये आपको बहुत नुकसान पहुचा सकता है जिससे आपके पाचन क्रिया को बहुत धीमा कर देता है जिस कारण पेट मे एसिडिटी की समस्या हो सकती है |
  • सूक्ष्मजीव को पेट मे जीने के लिये शुगर व पानी की जरूरत होती है अगर आप तरबूज खाने के बाद पानी पीते हो तो आपके पेट मे सूक्ष्मजीव या बैक्टीरिया बढने के चान्स ज्यादा हो सकते है जो ठीक नहीं है |
  • तरबूज और पानी को एक साथ लेने से शरीर मे कमजोरी आती है क्योकि इनके एक साथ सेवन से शरीर मे इलेक्ट्रोलाइट्स ठीक से काम नहीं करता जिससे शरीर के सेल्स नष्ट हो जाते है |
  • तरबूज खाने से आपको ज्यादा टॉयलेट आने लगता है जो ज्यादा आना ठीक नहीं है |
  • तरबूज खाने के बाद पानी पीने से आपका पेट भारी हो जाता है जिस वजह से आपकी पाचन शक्ति धीमी हो जाती है जिससे पेट खराब होने की शिकायत ज्यादा होती है |
Previous Post
Next Post
Related Posts